Month: February 2020

CAA के विरोध के नेतृत्व की राजनीति से गज़वा ए हिन्द की यात्रा

  जैसे जैसे 2019 अस्तांचल को जारहा है वैसे वैसे भारत अराजकता के दवानल की लपेट में आता जारहा है। हम टीवी पर दिन रात एक ही तरह के दृश्य देख रहे है जिसमे #CAA के विरोध में घरों और

Read More

भारत का बहुसंख्यक न सिर्फ आक्रोशित हो रहा है बल्कि हिंसा फैलाने वालों पर सुरक्षाबलों की हिंसा से आह्लादित भी हो रहा है।

मैने कुछ महीने पहले एक समाचार पढा था और सोचा था कि उस पर लिखूंगा, लेकिन परिस्थितिवश लिख नही सका था। वैसे भी बाद में मैंने इस पर ध्यान नही दिया क्योंकि मुझे लगता था कि इसके बारे में मीडिया

Read More

ए सरज़मीन ए अंदलुस वह दिन भी याद तुझको था तेरी डालियों पर जब आसियां हमारा?

आज 2 जनवरी है, जो न सिर्फ इस्लामिक तारीख का सबसे दुखदाई दिन है बल्कि एक अपवाद भी है। यह वह तारीख है जो इस सत्य को झुठलाता है कि इस्लाम जहां घुस गया, वहां से हटाया नही जासकता है।

Read More

जो निकृष्टता और निर्लज्जता का नग्न उत्सव लोगो ने मनाया है वह काल, उनके लिए महाकाल बन कर आएगा भी।

पिछले कुछ समय से पूरा भारत एक सनसनी में लिपटा जा रहा है और यह सब कुछ, एक विचारधारा, हिंदुत्व को अपनी अपनी गंदगी से लपेटने के लिए किया जारहा है। इसमे जो कलुषिता और कालिमयता दिख रही है वह

Read More

फ़ैज़ अहमद फ़ैज़: एक इस्लामिक बहरूपिया और भारतीय बौद्धिक

मैं देख रहा हूँ कि कई मेरे मित्र, फ़ैज़ पर हो रही चर्चा व आलोचना से बेहद त्रस्त है। उनको लग रहा है कि की फ़ैज़ की नज़्म पर जो उंगली उठ रही है, वह हमारे ऐसे लोगो की बौद्धिक

Read More

Hello world!

Welcome to WordPress. This is your first post. Edit or delete it, then start writing!